सुप्रभात लाट साहेब के साथ



* विचार- खुशी से थोड़े समय के लिए संतुष्टि प्राप्त होती है किंतु संतुष्टि से हमेशा के लिए खुशी प्राप्त हो जाती है।



* आज का इतिहास- एक जनवरी 1971 को टेलीविजन पर सिगरेट के विज्ञापनों को प्रतिबंधित किया गया था।

1664 में छत्रपति शिवाजी ने आज के ही दिन सूरत अभियान की शुरुआत कि थी। 1912 में आज के ही दिन रिपब्लिक ऑफ चाइना की स्थापना हुई थी।

एक जनवरी 1948 को इटली का संविधान अस्तित्व में आया था।



* जानिए- पेट्रोल को शुद्ध हिंदी में ध्रुव स्वर्ण कहा जाता है। वैसे इसे शीला तैल के नाम से भी जाना जाता है।



* हेल्थ टिप्स-दुन‍िया के सभी देशों में तरह-तरह की दालों का इस्तेमाल क‍िया जाता है। भारतीय खाने में दाल को खास जगह दी गई है। माना जाता है क‍ि दाल को क‍िसी भी तरह से ल‍िया जाए, वह फायदेमंद ही होती है। आज हम बात कर रहे हैं मसूर दाल की। ज‍िसे आमतौर पर 'लाल मसूर' के नाम से भी जाना जाता है। यह ऊर्जा और पोषक तत्वों से भरपूर होती है और इसके फायदे जबरदस्त हैं।प‍िछले कुछ दशकों में अपने खास फायदों के चलते मसूर दाल भारतीय व्यंजनों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गई है। इस बात की संभावना से कतई इनकार नहीं किया जा सकता कि एक कटोरी मसूर दाल पूरे खाने के पोषण और आहार संबंधी मांगों को पूरा करती है। यह दाल सभी के शरीर और सेहत पर अलग-अलग तरह से फायदेमंद असर दिखाती है।इसे बनाना बहुत आसान है। इसे इसके स्वाद के कारण अन्य सभी दालों से अलग और सबसे ज्यादा स्वाद‍िष्ट माना जाता है। अपने स्वाद के मुताब‍िक, हम इसमें अलग-अलग मसाले डालकर पका सकते हैं। एक कप मसूर दाल में 230 कैलोरी होती है, लगभग 15 ग्राम डाइटरी फाइबर और लगभग 17 ग्राम प्रोटीन होता है। आयरन और प्रोटीन से भरपूर होने के कारण, यह दाल वेजेटेरियन लोगों के लिए एक आयडि‍यल च्वाइस है। अलग तरह के स्वाद और आहार संबंधी फायदों के चलते इसे अपनी बैलेंस डाइट में शाम‍िल करना चाह‍िए।



* आस्था-नया साल 2021 इस बार पवित्र पुष्य नक्षत्र में शुरू हो रहा है। वर्ष 2021 में दो सूर्य और दो चंद्र ग्रहण पड़ेंगे। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इनमें से तीन ग्रहण भारत में दिखाई देंगे। वहीं, इस साल गुरु ग्रह के परिवर्तन से कुछ राशियों को फायदा भी हो सकता है। जनवरी से नया कैलेंडर वर्ष शुरू हो जाएगा। वर्ष 2021 में 26 मई और 19 नवंबर को चंद्र ग्रहण होंगे। वहीं, 10 जून और चार दिसंबर को दो सूर्य ग्रहण होंगे। आने वाले वर्ष में धनु, मकर, कुंभ, राशि वालों पर साढ़ेसाती का प्रभाव बना रहेगा। मिथुन, तुला, राशि वालों को शनि की दृष्टि सताती रहेगी।  सभी राशि के लोगों को हनुमान चालीसा का पाठ और हनुमान जी का दर्शन शुभ होगा। गुरु पांच अप्रैल से कुंभ राशि में आ जाएंगे और कुंभ पर्व प्रारंभ होगा। 

14 सितंबर से गुरु फिर अपनी नीच राशि मकर में आ जाएंगे। 20 नवंबर को गुरु का आगमन फिर से कुंभ राशि में हो जाएगा। मेष, वृषभ, कर्क, कन्या, तुला, राशि वाले जातक इस वर्ष धन और संपत्ति की प्राप्ति कर सकते हैं।  मीन वालों को बहुत लाभ हो सकता है। इस वर्ष राहु, वृषभ में और केतु, वृश्चिक राशियों में ही रहेंगे। दो जून से 30 जुलाई तक शनि, मंगल, सूर्य, शनि, गुरु, शुक्र, जैसे विपरीत ग्रहों की प्रति युति होगी।



* जोक्स-भक्त: हे भगवान, ठंड बहुत लग रही है

भगवान : भाई, तेरे को दुनिया में नहीं जम रहा हो तो ऊपर बुला लेता हूँ

भक्त: नहीं-नहीं प्रभु सब ठीक है और फ़ोन काट दिया।



* डायलॉग- जनता के सरोकारों से भारतीय मीडिया विमुख हो चुका है- मार्कंडेय काटजू (रिटायर्ड जस्टिस, सुप्रीम कोर्ट, नई दिल्ली)।